जायफल तेल के फायदे और नुकसान – Nutmeg Oil

8 Min Read
जायफल तेल के फायदे और नुकसान

जायफल तेल के फायदे और नुकसान ( Jaiphal tel ke fayde aur nuksan ) : जायफल की तरह ही जायफल तेल के फायदे और नुकसान भी कई होते हैं। जायफल को अंग्रेजी में (Nutmeg) कहा जाता है। जायफल का उपयोग शरीर को स्वस्थ रखने के लिए बेहद गुणकारी माना जाता है। जायफल की तासीर गर्म होती है जिसके कारण इसका इस्तेमाल सर्दियों के दिनों में अधिक किया जाता है।

जायफल तेल के फायदे और नुकसान (Benefits and harms of nutmeg oil in hindi)

जायफल एक प्रकार की जड़ी-बूटी है जिसका इस्तेमाल मसाले के साथ-साथ कई प्रकार की दवाओं को बनाने के लिए भी किया जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि जायफल की ही तरह जायफल के तेल के भी ढेरों स्वास्थ्य फायदे होते हैं। जायफल का तेल अन्य तेलों से अलग होता हैं क्योंकि इसमें कई प्रकार के औषधीय गुण पाए जाते हैं। जायफल के तेल की मदद से विभिन्न प्रकार की बीमारियों के खतरों को कम किया जा सकता है।

अन्य भाषाओं में जायफल के नाम

जायफल को संस्कृत में मालतीफल (Malteefal) एवं जातीफल (Jatifal), ओड़िया में जायफोलो (Jaipholo), तेलुगु में जाजीपत्री (Jajipattiri), कन्नड़ में जाजीकाय (Jajikaya), मराठी में बांडा जायफल (Banda jayaphala), तमिल में अडिपलम (Adipalam) एवं पंजाबी भाषा में जयफल (Jayphala) के नाम से जाना जाता है।

जायफल के तेल में पाए जाने वाले पोषक तत्व

जायफल के तेल में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, फाइबर, फोलेट, नियासिन, विटामिन C, कैल्शियम, पोटेशियम, मैग्नीशियम, फास्फोरस, कैरोटीन, राइबोफ्लेविन, थायमिन, विटामिन A, कॉपर, आयरन, मैंगनीज, ल्यूटिन-ज़ेक्सैंथिन, क्रिप्टो-जैंथिन आदि जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं।

जायफल तेल के उपयोग का तरीका

जायफल के तेल को शरीर पर मसाज करने के लिए, मसूड़ों पर, डिफ्यूजर में डालकर इनहेल करने के लिए, कुछ बूंदों को पानी में मिलाकर माउथवॉश करने के लिए, अरोमा थेरेपी के लिए, मिठाई बनाने के लिए एवं बेक्ड उत्पादों को बनाने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। Benefits and side effects of Nutmeg Oil in hindi.

जायफल तेल के फायदे – Benefits of Nutmeg Oil in hindi

  • जायफल के तेल के उपयोग से यौन शक्ति में वृद्धि होती है जिसकी मदद से यौन संबंधी विकारों से छुटकारा पाया जा सकता है। जायफल के तेल में कामोत्तेजक (Aphrodisiac) गुण पाए जाते हैं जिसके प्रभाव से पुरुषों की यौन शक्ति में इजाफा होता है। इसके अलावा जायफल के अर्क का इस्तेमाल करने से यौन व्यवहार में सुधार आता है जिससे यौन संबंधी सभी परेशानियों से दूर रहने में मदद मिलती है।
  • जायफल के तेल के इस्तेमाल से मस्तिष्क का स्वास्थ्य बेहतर रहता है। जायफल के तेल में एंटी-कॉनवल्सेंट (Anticonvulsant) के गुण पाए जाते हैं जिससे दिमाग के स्वास्थ्य पर बेहद सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इसके अलावा, जायफल के तेल का उपयोग करने से कई प्रकार के दिमागी बीमारियों के खतरों से भी बचा जा सकता है।
  • जायफल के तेल के उपयोग से गठिया जैसी बीमारी के लक्षणों को कम करने में आसानी होती है। जायफल के तेल में दर्द निवारक एवं एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी पाए जाते हैं जिसकी मदद से गठिया के दर्द एवं सूजन की समस्या से छुटकारा मिलता है। गठिया के मरीजों को जायफल के तेल से दर्द वाले स्थान पर मालिश करने से बहुत फायदा मिलता है।
  • जायफल के तेल के इस्तेमाल से भूख ना लगने की समस्या से छुटकारा मिलता है। एक शोध के अनुसार, जायफल के तेल में फेनिलप्रोपेनाइड यौगिक (Phenylpropanoid Compound) की मात्रा पायी जाती है जिसकी मदद से भूख लगने की प्रक्रिया में वृद्धि होती है। जायफल के तेल को सांस द्वारा लेने से भूख बढ़ाया जा सकता है।
  • जायफल के तेल का नियमित रूप से उपयोग करने से किडनी में पथरी की समस्या से बचा जा सकता है। एक शोध के अनुसार, जायफल के तेल का सेवन करने से गुर्दे की पथरी धीरे-धीरे गलने लगती है जिसके कारण पथरी का आकार छोटा होकर यूरिन के माध्यम से बाहर निकल जाता है। इसके अलावा जायफल के तेल के इस्तेमाल से बैक्टीरिया एवं वायरल संक्रमण के खतरे से भी दूर रहने में मदद मिलती है।
  • जायफल के तेल के उपयोग से अस्थमा जैसी श्वास संबंधी विकारों से छुटकारा मिलता है। जायफल के तेल में एंटीऑक्सीडेंट एवं एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं जिसके प्रभाव से श्वास की नलियों में सूजन को कम करने में मदद मिलती है जिससे अस्थमा जैसी बीमारी के लक्षणों को कम किया जा सकता है।
  • जायफल के तेल के इस्तेमाल से त्वचा संबंधी समस्याओं से दूर रहने में मदद मिलती है। जायफल के तेल में एंटीफंगल एवं एंटी-बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं जिसकी मदद से कील मुहांसों, डार्क सर्कल्स एवं झाइयों की समस्या से बचा जा सकता है। इसके अलावा, जायफल के तेल की बूंद को रुई में लगाकर मुहांसों प्रभावित जगह पर लगाने से इसके निशान को भी दूर किया जा सकता है।
  • जायफल के तेल का सेवन करने से लिवर का स्वास्थ्य बेहतर रहता है। जायफल का तेल शरीर में एक बेहतरीन लिवर टॉनिक की तरह कार्य करता है जिसकी मदद से शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में बहुत मिलती मिलती है जिससे लिवर को होने वाले नुकसान से बचाया जा सकते हैं।

जानें जायफल के फायदे और नुकसान – Jaiphal Ke Fayde or Nuksan

जायफल तेल के नुकसान – Losses of Nutmeg Oil in hindi

  • जायफल के तेल का अधिक इस्तेमाल करने से नींद की गुणवत्ता में कमी आ सकती है जिसके कारण कुछ लोगों को अनिद्रा की समस्या से गुजरना पड़ सकता है।
  • जायफल के तेल का अधिक मात्रा में उपयोग करने से कुछ लोगों को तनाव एवं अवसाद की समस्या हो सकती है।
  • जायफल के तेल की सुगंध को श्वास द्वारा अधिक मात्रा में लेने से आंखों की दृष्टि में कमी आ सकती है जिससे कमजोर आंखों की समस्या उत्पन्न हो सकती हैं।
  • एलर्जी की समस्या वाले लोगों को जायफल के तेल का अधिक मात्रा में उपयोग करने से बचना चाहिए। जायफल के तेल का अधिक मात्रा में उपयोग करने से त्वचा पर खुजली, मतली, लाल चकत्ते एवं उल्टी की समस्या से गुजरना पड़ सकता है।

जानें भांग के बीज के फायदे और नुकसान – Hemp Seeds

Trending on Internet

Share this Article