अंडकोष में दर्द के लिए घरेलू उपचार

7 Min Read
अंडकोष में दर्द के लिए घरेलू उपचार

अंडकोष में दर्द के लिए घरेलू उपचार ( andkosh me dard ke liye gharelu upchar ) : अंडकोष में दर्द के लिए घरेलू उपचार यहाँ दिया गया है। पुरुषों की अंडकोष थैली में दो अंडकोष होते हैं, जिसमें लाखों की संख्या में शुक्राणु पैदा होते हैं। इन्हीं अंडकोष में मर्दाना हार्मोन कहा जाने वाला टेस्टोस्टेरॉन हार्मोन भी बनता है।

पुरुष अंडकोष को अंग्रेजी में टेस्टिकल्स (testicles) कहा जाता है। पुरुष का अंडकोष एक महत्वपूर्ण अंग है इससे जुडी किसी भी समस्या को नजर अंदाज न करें क्योंकि इस से जुडी समस्या के कारण नपुंसकता आ सकती है।

अंडकोष में दर्द कई बार पेट की तकलीफ होने पर या किसी दबाव, चोट लगने, असुरक्षित सेक्स और कई बिमारियों जैसे इंगुइनल हर्निया, ओरचीटिस, तोरसिओं, अधिवृषण, हाइड्रोसील, ऑर्किटिस, हार्निया, वैरिकोसील, टेस्टिकल कैंसर, कोनायम आदि के कारण भी दर्द की समस्या हो सकती है। अंडकोष की समस्या से हेल्थ और फर्टिलिटी दोनों पर असर पड़ता है।

पुरुष अंडकोष में दर्द के कारण ( Causes of pain in male Testicles in hindi )

अधिवृषण – अधिवृषण को एपीडिड्यमिटिस के नाम से भी जाना जाता है, अधिवृषण एक नली होती है जिसमें जलन और सूजन होने लगती है यह समस्या किसी चोट या बेक्टेरियल संक्रमण से हो सकती है, यह सेक्स डिजीज एस.टी.डी के कारण भी हो सकता है। एपीडिड्यमिटिस में भी जलन, दर्द होता है और एस.टी.डी के कारण यह हो सकता है।

तोरसिओं – इसे टेस्टिकुलर मरोड़ ने नाम से भी जानते हैं इसमें स्पेर्मटिक कॉर्ड मुड़ जाती है और टेस्टिकल तक ब्लड सप्लाई बंद हो जाती है। जिस कारण अंडकोष हमेशा के लिए खराब हो सकता है।

ओरचीटिस – ओरचीटिस में बैक्टीरियल या वायरल संक्रमण के कारण अंडकोष में दर्द, सूजन और जलन होने लगती है।

इंगुइनल हर्निया – भारी सामान उठाने की वजह से इंगुइनल हर्निया की समस्या होती है, इसमें छोटी आंत का कुछ भाग अंडकोष में आ जाता है जिस के कारण अंडकोष में दर्द और सूजन पैदा हो जाती है।

टेस्टिकल कैंसर – अंडकोष में गांठ के कारण, दर्द और सूजन होती है जोकि टेस्टिकल कैंसर का कारण हो सकती है, यह कैंसर शरीर के और अंगों में भी फ़ैल सकता है। टेस्टिकुलर कैंसर को समय पर इलाज द्वारा सही किया जा सकता है।

कोनायम – कोनायम में अंडकोष में खून प्रवाहित करने वाली नलियों के अन्दर खून जमा हो जाता है जिस कारण दर्द और सूजन की समस्या हो सकती है।

वैरिकोसील – वैरिकोसील में अंडकोष के अंदर की नसें बड़ी हो जाती हैं जिस कारण सूजन और दर्द की समस्या होती है और अंडकोष का आकर बढ़ जाता है। सपोर्टर का प्रयोग कर इसके दर्द को कम किया जा सकता है।

हाइड्रोसील – हाइड्रोसील रोग में अंडकोषों में पानी भर जाता है जिस कारण इनका आकार बढ़ जाता है इसमें रोगी की जान तक जा सकती है क्योंकि पानी भरने के कारण अंडकोष फट भी सकता है जिस कारण मृत्यु तक हो सकती है।

जानें यौनशक्ति बढ़ाने के घरेलू उपाय – Home remedies to Increase Sexual Power

अंडकोष में दर्द के लिए घरेलू उपचार ( Home remedies for Testicle pain in hindi )

दालचीनी – सुबह-शाम पानी के साथ आधा चम्मच दालचीनी पाउडर लेने से अण्डकोष में पानी भरने की समस्या दूर होती है।

बकायन – बकायन के पत्ते को पानी में उबालकर उसमें कपडा भिगोकर अण्डकोषों की सिकाई करने से सूजन में राहत मिलती है, बकायन के पत्ते को अण्डकोषों में बांधने से भी लाभ मिलता है।

अजवाइन और जीरा – पानी में 10 से 15 ग्राम अजवायन और जीरा पीसकर इसका लेप बना कर इस लेप को गर्म कर लें और अंडकोष पर लेप लगाएं इससे सूजन और दर्द में राहत मिलेगी।

रेहान के बीज – थोड़े से रेहान के बीजों का पानी मिलाकर लेप बना लें और इस लेप को थोड़ा सा गर्म करने के बाद अंडकोष पर लेप लगाने से सूजन और दर्द में राहत मिलती है।

माजूफल और फिटकरी – थोड़ी सी फिटकरी और माजूफल को पानी में पीसकर 15 दिन तक अण्डकोष पर लेप करने से अण्डकोष में भरा पानी सही हो जाता है। फिटकरी को भी सीधे पानी में पीसकर लेप लगाने से अण्डकोष में लाभ मिलता है।

त्रिफला और गोमूत्र – गाय के मूत्र (गोमूत्र) को त्रिफला के काढ़े में मिलाकर पिने से दर्द और सूजन में राहत मिलती है।

रोगन कमीला – रोगन कमीला तेल से अंडकोष की मालिश करने से दर्द में लाभ मिलता है।

बर्शाशा – चुटकीभर बर्शाशा को पानी के साथ रात में ले लें सूजन में लाभ मिलेगा।

छोटी हरड़ और रसौत – थोड़ी से मात्रा में छोटी हरड़ और रसौत को पीसकर सरसों के तेल में मिलाकर लेप लगाने से सूजन में फायदा होता है।

कद्दू के बीजों का रस – कद्दू के बीजों का रस अंडकोष को बढ़ने से रोकता है।

गर्म दूध और अरंडी का तेल – गर्म दूध में अरंडी का तेल 25 ml मिलाकर पिने से लाभ होता है।

अदरक और शहद – थोड़ा से अदरक के रस में शहद मिलाकर पीने से अण्डकोष के आकर बढ़ने की समस्या दूर होती है।

जानें पेनिस पर सरसों के तेल के फायदे और नुकसान

आवश्यक सूचना

अण्डकोष में हो रही किसी भी परेशानी को हल्के में न लें, अण्डकोष से जुडी कोई भी समस्या को नजर अंदाज न करे। अण्डकोष में हो रही समस्या से आपका रिप्रोडक्शन सिस्टम ख़राब हो सकता है और व्यक्ति में नपुंसकता आ सकती है या जान तक जा सकती है इसलिए किसी भी तरह की दिक्कत महसूस होने पर डॉक्टर से अवश्य संपर्क करें।

किशमिश और शहद के फायदे – पुरुषों की सेक्सुअल प्रॉब्लम करे दूर

Share this Article

Google News पर हमें फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें