चाय के पौधे के तेल के फायदे और नुकसान – Tea Tree oil Benefits

7 Min Read
चाय के पौधे के तेल फायदे और नुकसान

चाय के पौधे के तेल के फायदे और नुकसान ( chaai ke podhe ke tel ke fayde aur nuksan ) : चाय के पौधे के तेल के फायदे और नुकसान कई हैं। टी ट्री आयल यानी चाय के पौधे के तेल का उपयोग करने से हम सेहतमंद रहते हैं। इसमें एंटीसेप्टिक, एंटी-वायरल, एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-माइक्रोबियल, उत्तेजक, कीटनाशक एवं कवकनाशी गुण पाए जाते हैं जो हमारे शरीर को कई प्रकार से लाभ पहुंचाने का कार्य करते हैं।

इस तेल को टी ट्री की पत्तियों एवं शाखाओं से भाप के माध्यम (Steam Distillation) द्वारा प्राप्त किया जाता है। यह बेहद प्रभावशाली तेल माना जाता है जिसके उपयोग से हम कई प्रकार की बीमारियों से बचे रह सकते हैं। Tea Tree oil advantages and disadvantages in hindi.

चाय के पौधे के तेल के फायदे और नुकसान (Tea Tree oil advantages and disadvantages in hindi)

चाय के पौधे के तेल के उपयोग से हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होती है। लेकिन इसके अधिक सेवन से कुछ स्वास्थ्य संबंधी नुकसान भी हो सकते हैं। Benefits and Side effects of Tea Tree oil in hindi, benefits and losses of Tea plant oil in hindi.

चाय के पौधे के तेल के फायदे (Benefits of Tea Tree oil in hindi)

  • चाय के पौधे के तेल के इस्तेमाल से हम कई प्रकार के त्वचा संबंधी संक्रमण के खतरों से बच सकते हैं। यह हमारे शरीर में एक प्राकृतिक एंटी-सेप्टिक (Antiseptic) के रूप में कार्य करता है। इसके इस्तेमाल से हमारी त्वचा की बाहरी एवं अंदरूनी परत पर मौजूद बैक्टीरिया खत्म हो जाते जिससे हमारे त्वचा की चमक बनी रहती है। यह हमारे घाव को जल्दी भरने में भी बेहद मददगार होता है। इसके अलावा इसमें सिकात्रिसंट (Cicatrisant) गुण भी पाए जाते हैं जो हमारे चेहरे से दाग-धब्बे, कील मुंहासे एवं डार्क सर्कल्स की समस्या को दूर रखता है।
  • चाय के पौधे के तेल के उपयोग से हमारे बालों की सेहत बनी रहती है। यह हमारे बालों के रोमछिद्रों को खोलने के साथ-साथ उनकी जड़ों को भी मजबूती प्रदान करता है। रोजाना इस तेल के उपयोग से डैंड्रफ एवं जुओं की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। यह हमारे बालों की जड़ों को मजबूती प्रदान करता है जिससे हमारे बालों का झड़ना रुक जाता है।
  • चाय के पौधे के तेल के इस्तेमाल से बुखार एवं मलेरिया जैसी समस्याओं से छुटकारा मिलता है। यह एक रोगाणुरोधी (Antimicrobial) तेल माना जाता है जो हमारे शरीर में बुखार और मलेरिया जैसी बीमारियों को जन्म देने वाले रोगाणुओं को खत्म करने का कार्य करते हैं।
  • सर्दियों के मौसम में चाय के पौधे के तेल का उपयोग करने से बहुत फायदे होते हैं। इसके सेवन से सर्दी-जुकाम एवं खांसी जैसी समस्याओं से राहत मिलती है। सर्दियों में कफ की समस्या हो जाने पर एक कप गर्म पानी में चाय के पौधे के तेल की कुछ बूंदे डालकर उसकी भाप लेने से कफ की समस्या से राहत मिलती है।
  • चाय के पौधे के तेल के इस्तेमाल से हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होती है जिससे हम कई बीमारियों के खतरों से बचे रह सकते हैं। यह हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाये रखने में बेहद मददगार माना जाता है। इसके नियमित इस्तेमाल से हम बीमारियों के साथ-साथ कई प्रकार के संक्रमणों के खतरों से भी बचे रह सकते हैं।
  • चाय के पौधे के तेल नियमित सेवन से हम निमोनिया जैसी बीमारी के खतरे से बचे रह सकते हैं। निमोनिया एक फेफड़े से हुआ संक्रमण है जिसमे हमें सांस लेने में तकलीफ का सामना करना पड़ता है। इस तेल में एंटी-माइक्रोबियल (Anit-Microbial)गुण पाए जाते हैं। यह एक असेंशियल ऑयल है जिसकी सुगंध को नाक के द्वारा लेने से निमोनिया के लक्षणों को आसानी से कम किया जा सकता है।
  • चाय के पौधे के तेल के उपयोग से हमें रिंगवर्म की समस्या में राहत मिलती है। रिंगवर्म एक प्रकार का त्वचा संबंधी संक्रमण है जिसमे हमारी त्वचा पर लाल एवं खुजली दार गोला बन जाता है। इस तेल में एंटी-फंगल (Anti-fungal) गुण पाए जाते हैं जिससे हम त्वचा संबंधी संक्रमणों से बच सकते हैं। इसके नियमित इस्तेमाल से फंगल इन्फेक्शन के कारण होने वाले नुकसान को कम किया जा सकता है।
  • चाय के पौधे के तेल के इस्तेमाल से हम शरीर की दुर्गंध को दूर कर सकते हैं। कुछ लोगों को अधिक पसीना आता है जिसके कारण उनके शरीर में बैक्टीरिया पनपते हैं जो शरीर की दुर्गंध का कारण बनते हैं। इस तेल में एंटी-बैक्टीरियल (Anti-Bacterial) गुण पाए जाते हैं जो हमारे शरीर के जीवाणुओं से लड़ने का कार्य करते हैं और उन्हें खत्म कर देते हैं जिससे हमें बहुत फायदा मिलता है।

जानें काली चाय पीने के फायदे और नुकसान – Black Tea Benefits

चाय के पौधे के तेल के नुकसान (Losses of Tea Tree oil in hindi)

  • चाय के पौधे का तेल को मौखिक रूप में इस्तेमाल नहीं करना चाहिए अन्यथा इससे हमें उलटी, दस्त, कमजोरी, पेट खराब, कोमा एवं सांस लेने में तकलीफ जैसी समस्या का सामना करना पड़ सकता है।
  • चाय के पौधे के तेल सावधानीपूर्वक लगाना चाहिए क्योंकि यह हमारी आंखों को नुकसान पहुंचा सकता है। इस तेल के शक्तिशाली प्रभाव से हमारी आंखों में जलन की समस्या उत्पन्न जो सकती है।
  • चाय के पौधे का तेल का सही ढंग से उपयोग न किये जाने पर हमारे मस्तिष्क पर इसका बुरा प्रभाव पड़ सकता है जिससे भ्रम की स्थिति पैदा हो सकती है।
  • गर्भवती या स्तनपान करा रही महिलाओं को टी ट्री ऑयल का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले लेनी चाहिए।
  • एलर्जी की समस्या वाले लोगों को चाय के पौधे के तेल के सेवन से बचना चाहिए अन्यथा ये उनकी एलर्जी की समस्या में वृद्धि भी कर सकता है।

पढ़ें –

Trending on Internet

Share this Article