लौकी के जूस के फायदे और नुकसान – Bottle Gourd Juice

7 Min Read
लौकी के जूस के फायदे और नुकसान - Bottle Gourd Juice

लौकी के जूस के फायदे और नुकसान ( lauki ke juice ke fayde aur nuksan ) : लौकी की तरह ही लौकी के जूस के फायदे और नुकसान भी कई होते हैं। लौकी एक प्रकार की सब्जी है जिसका रंग हल्के हरे रंग का होता है। लौकी की तासीर ठंडी होती है इसमें उचित मात्रा में जल होता है। लौकी में बहुत से औषधीय गुण पाए जाते हैं तथा इसकी दो प्रजातियां होती हैं पहली मधुर और दूसरी कड़वी। मधुर यानि मीठी लौकी का इस्तेमाल सब्जी, मिठाई बनाने आदि में किया जाता है तथा कड़वी लौकी का इस्तेमाल अधिकांशतः औषधि बनाने में किया जाता है।

लौकी के जूस के फायदे और नुकसान (Benefits and harms of Bottle Gourd juice in hindi)

लौकी के बहुत से फायदे होते है तथा फायदों के साथ इसके बहुत से नुकसान भी होते उनका विवरण नीचे दिया गया है।

अन्य भाषाओं में लौकी के नाम

लौकी को हिंदी में लौकी, घीया व दूधी तथा अंग्रेजी में बॉटल गॉर्ड (Bottle Gourd) कहते हैं। इसके अलावा लौकी को संस्कृत भाषा में तुम्बी, कटुतुम्बी व अलाबू, गुजराती में दूधियो, तमिल में शोरक्काई, बंगाली में कोडूलौ, मराठी में दुध्या और पंजाबी में तुम्बा कहा जाता है।

लौकी के जूस में पाए जाने वाले पोषक तत्व

लौकी का जूस एनर्जी से भरपूर होता है जिसमें कार्ब्स, विटामिन ए, विटामिन बी1, विटामिन बी2, विटामिन बी3 व विटामिन सी पाया जाता है। इसके अलावा लौकी के जूस में कैल्शियम, प्रोटीन, आयरन, पोटैशियम, फॉस्फोरस, फाइबर व सोडियम जैसे पोषक तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते है।

लौकी का जूस बनाने का तरीका (lauki ka juice banane ka tarika)

एक लौकी को साफ़ पानी से धोकर अच्छी तरह छीलकर उबाल लें उसके बाद उसमें 2 छोटे चम्मच पुदीना, 2 छोटे चम्मच हरा धनिया, कद्दूकस किया हुआ थोड़ा सा अदरक, स्वादनुसार एक चुटकी नमक और आधा चम्मच नींबू को अच्छी तरह से मिलाकर थोड़ा देर ठंडा होने दें और जब जूस थोड़ा ठंडा हो जाए तो उसका नियमित रूप से सेवन करें। वैसे तो लौकी के जूस का सेवन कभी भी किया जा सकता है परन्तु यदि इसका सेवन सुबह खाली पेट करते है तो यह ज्यादा फायदेमंद होता है। Benefits and side effects of Bottle Gourd Juice in hindi.

लौकी के जूस के फायदे (Benefits of Bottle Gourd Juice in hindi)

Lauki ke juice ke fayde in hindi – लौकी के जूस का सेवन वजन कम करने के लिए भी किया जाता है, रोजाना 100 ग्राम लौकी के जूस का सेवन करने से यह तुरंत ही अपना काम करना शुरू कर देता है और इससे बहुत कम समय में ही वजन कम किया जा सकता है। इसके अलावा रोज सुबह खाली पेट लौकी के जूस का सेवन करने से भूख देर में लगती है क्योंकि इसमें फाइबर की मात्रा अधिक होती है और इसलिए भूख न लगने के कारण खाना कम मात्रा में खाया जाता है जो वजन कम करने में मदद करता है।

लौकी के जूस का सेवन तनाव को दूर करने के लिए भी किया जाता है, रोजाना 1 से 2 गिलास लौकी के जूस का सेवन करने से शरीर में पानी की मात्रा में वृद्धि होती है और शरीर ठंडा होने से तनाव कम होता है। लौकी के जूस में मौजूद न्यूरोट्रांसमीटर कोलीन की मात्रा होती है जो मस्तिष्क के कार्यों को नियंत्रित करती है जिससे तनाव व डिप्रेशन की समस्या दूर हो जाती है।

लौकी के जूस का सेवन त्वचा के लिए भी बहुत ही फायदेमंद होता है, रोजाना सुबह लौकी के जूस का सेवन करने से यह रक्त को शुद्ध करता है जिससे त्वचा को प्राकृतिक सौंदर्य प्राप्त होता है। इसके अलावा लौकी के जूस का सेवन करने से यह त्वचा से अतिरिक्त तेल व गंदगी को दूर करके कील-मुंहासों की समस्या को भी दूर करता है। यदि त्वचा में जले-कटे आदि के दाग-धब्बे हैं तो लौकी के जूस का सेवन करने से इन दाग-धब्बों को दूर किया जा सकता है।

लौकी का जूस बालों के लिए भी बहुत ही फायदेमंद होता है, रोजाना लौकी के जूस का सेवन करने से यह झड़ते, रूखे और सफ़ेद बालों की समस्या को दूर करता है। इसके अलावा लौकी के जूस में तिल का तेल मिलाकर बालों में लगाने से यह गंजेपन और झड़ते बालों की समस्या को भी दूर करने में सहायक होता है। लौकी के जूस में आंवले का जूस मिलाकर भी बालों में लगाया जाता है इससे बालों में प्राकृतिक रंग बना रहता है और बाल घने होते है।

जानें लौकी का तेल लगाने के फायदे – प्राकृतिक गुणों से भरपूर

लौकी के जूस का सेवन पाचन क्रिया को मजबूत बनाने के लिए भी किया जाता है, रोजाना सुबह लौकी के जूस का सेवन करने से यह पाचन संबंधी अनेक समस्याओं जैसे – पेट दर्द, गैस की समस्या, पेट फूलना, पेट की सूजन आदि को दूर करने में सहायता करता है। लौकी के जूस से भरपूर मात्रा में पानी प्राप्त किया जाता है जो पाचन शक्ति को बनाए रखने में मदद करता है।

लौकी के जूस के नुकसान (Disadvantages of Bottle gourd juice in hindi)

  • लौकी के जूस बनाने के बाद यदि जूस का स्वाद कड़वा हो रहा तो इसका सेवन करने से बचे क्योंकि यह मूत्र से संबंधित समस्याओं, गैस व अपच जैसी अन्य समस्याएं उत्पन्न कर देता है। इसके अलावा इसका सेवन किसी अन्य पदार्थ के साथ न करें यह नुकसानदायक हो सकता है।
  • कड़वे लौकी के जूस का सेवन गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत ही नुकसानदायक होता है इसके अलावा स्तनपान कराने वाली महिलाओं को भी इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

जानें वजन घटाने के लिए लौकी के जूस के फायदे – Bottle Gourd Juice

Trending on Internet

Share this Article