आंवला जूस के फायदे और नुकसान – Amla Juice

6 Min Read
आंवला जूस के फायदे और नुकसान (Advantages and disadvantages of Amla juice in hindi)

आंवला जूस के फायदे और नुकसान (amla juice ke fayde aur nuksan) : आंवला जूस के फायदे और नुकसान कई सारे होते हैं, आयुर्वेद में आंवले को एक जड़ी-बूटी के रूप में वर्णित किया गया है। इस साधारण से दिखने वाले फल में कई प्रकार के औषधीय गुण मौजूद होते हैं। कई शारीरिक समस्याओं में राहत दिलाने के लिए इसका उपयोग किया जाता है। आंवले की ही तरह इसके जूस के भी कई स्वास्थ्य संबंधी फायदे होते हैं। यह हमारे खून को साफ करने के साथ-साथ पेट संबंधी समस्याएं जैसे दस्त, हाइपर-एसिडिटी और पेट में जलन से राहत दिलाता है। इस जूस को सर्वोत्तम पेय पदार्थ माना जाता है जो कई बीमारियों से बचाने के साथ-साथ हमारी आंखों की रोशनी में भी वृद्धि लाता है। इसके कई स्वास्थ्य फायदे होने के साथ-साथ कुछ नुकसान भी हैं। Advantages and disadvantages of Amla juice in hindi.

आंवला जूस के फायदे और नुकसान (Advantages and disadvantages of Amla juice in hindi)

आंवला जूस के फायदे (Benefits of Amla Juice in hindi)

  • आंवला जूस के नियमित सेवन से मोटापे की समस्या को घटाया जा सकता है। एक अध्ययन के अनुसार इसमें एंटी-ओबेसिटी यानि का गुण मौजूद होता है जो हमारे शरीर से वजन कम करने का कार्य करता है। रोजाना नियमित रूप से सुबह खाली पेट इसका सेवन करने से इस समस्या से जल्द छुटकारा पाया जा सकता है।
  • आंवला जूस के सेवन से हृदय संबंधी समस्याओं से बचा जा सकता है। यह हमारे शरीर में बढे हुए लिपिड को कम करने के साथ-साथ उच्च रक्तचाप की समस्या को भी घटाता है जिससे हृदय के स्वास्थ्य पर बहुत सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। आंवला के जूस में मौजूद औषधीय गुणों की सहायता से हमारा स्वास्थ्य बेहतर रहता है।
  • आंवला जूस को पीने से हम मधुमेह जैसी बीमारी से बच सकते हैं। इसमें गैलिक एसिड, ग्लूटेनिन, एलेजिक एसिड एवं कोरिलागिन नामक एंटीऑक्सीडेंट मौजूद होते हैं जो हमारे शरीर में ब्लड शुगर की मात्रा को नियंत्रित करने में बेहद मददगार होता है। मधुमेह के रोगियों को रोजाना आंवला जूस का सेवन करने से उनमें शुगर की मात्रा में वृद्धि नहीं होगी और वे स्वस्थ रहेंगे।
  • आंवला जूस के नियमित सेवन से हम कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी से बच सकते हैं। इसमें मौजूद कीमो प्रिवेंटिव प्रभाव के कारण कैंसर जैसी बीमारी को दूर किया जा सकता है। आंवला जूस पीने से हमारे शरीर में कैंसर की कोशिकाएं विकसित नहीं हो पाती जिससे इस बीमारी से बचे रहने में आसानी होती है।
  • आंवला जूस को पीने हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होती है। इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं जो हमारे शरीर में मुक्त कणों के प्रभावों को कम करने का कार्य करते हैं जिससे हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता में सुधार आता है। इसके प्रभाव से हम कई प्रकार की बीमारियों से बच सकते हैं। इसके अलावा इसके सेवन से हमें ऊर्जा मिलती है जो हमें दिन भर एनर्जेटिक रखते है।
  • आंवला जूस के सेवन हमारे पाचन तंत्र में सुधार होता है। एक अध्ययन से पता चला है कि इसमें स्टमक के लिए अच्छे गुण पाए जाते हैं जो हमारी पाचन शक्ति को बढ़ावा देने के साथ-साथ हमारी भूख को भी बढ़ाते हैं। यह हमारी पेट से जुड़ी समस्याओं को भी दुरुस्त रखने में बेहद असरदार माना जाता है। इसके सेवन से पेट संबंधी समस्या जैसे कब्ज, पेट में गैस, पेट में ऐंठन या एसिडिटी से राहत मिलती है।
  • रोजाना नियमित रूप से आंवला जूस का सेवन करने से हमारी आंखों की रौशनी में वृद्धि होती है। इसमें मौजूद पौष्टिक तत्वों के प्रभाव से हम आंख संबंधी बीमारियों से भी बच सकते हैं। आंवले के जूस में शहद मिलाकर पीने से हमारी आंखों की समस्या से बचे रहते हैं।
  • आंवला जूस के सेवन से हमारा लिवर सुरक्षित रहता है। अक्सर गलत खान-पान के चलते हमारे लिवर को नुकसान पहुंचता है जिसका नकारात्मक प्रभाव हमारी सेहत पर भी पड़ता है। आंवला जूस में हेपेटोप्रोटेक्टिव गुण मौजूद होता है जो हमारे लिवर के स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद माना जाता है।

जानें आंवला और एलोवेरा जूस के फायदे – Amla and Aloe Vera Juice Benefits

आंवला जूस के नुकसान (Losses of Amla Juice in hindi)

  • आंवला जूस के अत्यधिक सेवन से शरीर का ब्लड प्रेशर सामान्य से भी कम हो सकता है। लो ब्लड प्रेशर की समस्या से जूझ रहे लोगों को इसका अधिक मात्रा में सेवन करने से बचना चाहिए।
  • मधुमेह की दवा का सेवन करने वालों को इसके सेवन से पहले डॉक्टर का परामर्श अवश्य लेना चाहिए क्योंकि इसमें उच्च मात्रा में एंटी-डायबिटिक गुण पाया जाता है जो ब्लड में  शुगर की मात्रा को कम करने का कार्य करता है। ऐसे में दवा और आंवला जूस का साथ-साथ सेवन करना हानिकारक हो सकता है।
  • गर्भावस्था के दौरान आंवला जूस का सेवन उचित मात्रा महि करना चाहिए अन्यथा इसके अत्यधिक सेवन से गर्भ में पल रहे शिशु को नुकसान भी पहुंचा सकते हैं। ऐसी स्थिति में डॉक्टर से परामर्श लेना बेहतर होगा।
  • आंवला जूस के अत्यधिक सेवन से शरीर में एलर्जी की समस्या भी उत्पन्न हो सकती है जिसमें त्वचा संबंधी परेशानियां का सामना करना पड़ सकता है।

जानें सिर्फ एक महीने मेथी का पानी पीने के फायदे – Fenugreek

Trending on Internet

Share this Article