गले में भारीपन के कारण और उपाय

9 Min Read
गले में भारीपन के कारण और उपाय

गले में भारीपन के कारण और उपाय ( gale mein bharipan ke karan aur upay ) : गले में भारीपन के कारण और उपाय यहाँ बताये गए हैं, गले में भारीपन होना एक आम समस्या है। दरअसल मौसम में बदलाव के कारण सर्दी, जुकाम, बुखार, गले में दर्द एवं गले में भारीपन जैसे संक्रमण हो ही जाते हैं। इसके अलावा गले में भारीपन कई कारणों से हो सकता है

जैसे प्रदूषित एवं गन्दे जल या भोजन का सेवन करना, वायरस एवं बैक्टीरियल संक्रमण, शराब एवं धूम्रपान का अधिक सेवन आदि शामिल हैं। लेकिन कई हफ्तों तक गले में भारीपन बना रहना आम समस्या नहीं हैं, यह किसी गंभीर बीमारी का संकेत भी हो सकता है इसलिए गले में भारीपन को नजरअंदाज करना सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकता है।

आयुर्वेद के अनुसार, वात, पित्त, कफ दोष बिगड़ जाने के कारण गले के संक्रमण की समस्या होती है। लेकिन क्या आप जानते हैं, सामान्य संक्रमण के कारण होने वाले गले के भारीपन को दूर करने के कई घरेलू उपाय हैं, जिनका उपयोग कर आप गले के भारीपन से छुटकारा पा सकते हैं। आइए विस्तार में जाने हमारे इस आर्टिकल से गले में भारीपन के कारण और उपाय के बारे में। Causes and remedies for heaviness in throat in hindi.

गले में भारीपन होने के सामान्य कारण

सामान्यतः, मौसम में बदलाव एवं प्रदूषित जल या भोजन के सेवन से गले में भारीपन की समस्या पैदा हो सकती है। इसके अलावा भी गले में भारीपन के कई कारण हो सकते हैं। आइए विस्तार में जाने गले में भारीपन के कारणों के बारे में।

  • वायरल और बैक्टीरियल संक्रमण के कारण गले में भारीपन की समस्या हो सकती हैं।
  • सर्दी-जुकाम गले में संक्रमण का कारण बनता है, जो गले में भारीपन की समस्या को पैदा कर सकता हैं।
  • काली खांसी के कारण गले में सूजन आ जाती हैं, जो गले में भारीपन का कारण बनती हैं।
  • फ्लू फैलाने वाले वायरस के कारण भी गले में संक्रमण होता हैं, जिस कारण गले में भारीपन हो सकता हैं।
  • शराब और धूम्रपान का अधिक सेवन, गले में भारीपन की समस्या को पैदा कर सकता हैं।
  • धुआं, धूल और वायु प्रदूषण के कारण भी गले में संक्रमण हो सकता हैं, जो गले में भारीपन का कारण बन सकता हैं।
  • डिपथेरिया यानी नाक और गले में होने वाली एक गंभीर बीमारी है, जो गले को संक्रमित करती हैं, जिस कारण गले में भारीपन हो सकता हैं।

गले में भारीपन के कारण

गले में भारीपन को नजरअंदाज करना सेहत के नुकसानदायक हो सकता है, दरअसल तंबाकू, सिगरेट और शराब की लत लोगों के गले में इन्फेक्शन का कारण बने लगी हैं, जिस कारण गले में भारीपन बना रहता है, जो कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी का संकेत भी हो सकता हैं।

दरअसल डॉक्टरों के अनुसार, तीन सप्ताह से अधिक गले में भारीपन रहना लैरिंजियल कैंसर को जन्म दे सकता है। लैरिंजियल कैंसर महिलाओं की अपेक्षा पुरुषों को ज्यादा होता है। लेकिन जिन महिलाओं को धूम्रपान की लत होती हैं, उन महिलाओं को भी लैरिंजियल कैंसर होने की संभावना अधिक होती हैं।

सिगरेट आदि की लत के कारण 25 से 40 वर्ष के युवाओं में लैरिंजियल कैंसर होने की आशंका बढ़ती जा रही हैं। दरअसल सिगरेट में पैजोपारिम हाइड्रोजन कार्बन पाए जाते हैं, जो कैंसर की बीमारी को आसानी से जन्म देते हैं इसलिए धूम्रपान आदि का सेवन करने से बचें। इसके अलावा लैरिंजियल कैंसर एक अनुवांशिक बीमारी हैं, जिसका असर पीढ़ी दर पीढ़ी रहता है।

जानें पुरुषों के लिए लौंग के फायदे – Benefits of Cloves for Men

गले में भारीपन होने के लक्षण

  • आवाज में कर्कशता या भारीपन होना।
  •  गले में दर्द एवं खराश होना।
  • भोजन निगलने में कठिनाई होना।
  • गले में भारीपन के कारण बुखार और खांसी भी हो सकती है।

कैंसर के कारण होने वाले गले में भारीपन के लक्षण

  • आवाज का भारी होना।
  • सांस फूलना।
  • गले में सूजन।
  • मुंह से बदबू आना और मुंह से खून निकलना आदि शामिल हैं ।

 गले में भारीपन से बचाव के लिए इन विशेष बातों का ध्यान दें

  • संक्रमण से बचने के लिए भोजन करने से पहले हाथों को अच्छी प्रकार धो लें।
  • ठंडी तासीर वाले खाद्य पदार्थों जैसे आइसक्रीम, दही, बर्फ के पानी आदि का बिल्कुल सेवन न करें।
  • संक्रमित एवं प्रदूषित वातावरण में ना जाएं साथ ही ऐसी जगह के पानी एवं भोजन का सेवन करने से भी बचें।
  • तैलीय एवं वसायुक्त भोजन का अधिक सेवन करने से बचें।
  • बाहर से आने के बाद, खांसने एवं छींकने के बाद और टॉयलेट से आने के बाद हाथों को अच्छी तरह धो लें।
  • गले में खराश या भारीपन होने पर हमेशा गर्म पानी का सेवन करें।
  • प्रदूषण युक्त वातावरण में मास्क लगाकर ही जाएं।
  • धूम्रपान एवं शराब का सेवन करने से बचें।

जानें कुटजारिष्ट के फायदे – Benefits of Kutajarishta

गले के भारीपन को दूर करने के घरेलू उपाय

सामान्य संक्रमण के कारण होने वाले गले के भारीपन को दूर करने के लिए आप इन घरेलू उपाय का उपयोग कर सकते हैं।

अदरक

गले में भारीपन होने पर आप अदरक का सेवन करें, दरअसल अंदर में एंटी-बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं, जो गले के संक्रमण को दूर कर, गले के भारीपन को दूर करने में सहायक होते है। इसके लिए आप अदरक की चाय का सेवन कर सकते हैं। इसके अलावा आप एक कप पानी में अदरक उबालकर उसमें एक चम्मच शहद मिलाकर इस मिश्रण का दिन में दो बार सेवन कर सकते हैं। जानें अदरक के फायदे और नुकसान – Ginger benefits, Side effects

सेब का सिरका

सेब के सिरके में विटामिन-सी की उच्च मात्रा पायी जाती हैं, जो गले में मौजूद बैक्टीरिया को नष्ट करने में सहायक होती है और गले के भारीपन को दूर करने में मदद करती है। इसके लिए आप एक कप गर्म पानी में एक चम्मच नमक और एक चम्मच सेब का सिरका मिलाकर गरारा करें। जानें सेब के सिरके (एप्पल साइडर विनेगर) के फायदे और नुकसान

शहद

गले में भारीपन होने पर आप शहद का सेवन कर सकते है। दरअसल शहद में सूजन और दर्द को कम करने वाले गुण पाए जाते हैं, जो संक्रमण के कारण होने वाले गले में दर्द और सूजन को दूर करने में सहायक होते है और गले के भारीपन को ठीक करते है। गले में भारीपन होने पर आप एक चम्मच शहद का सेवन करें। जानें शहद खाने के फायदे

लहसुन

लहसुन में एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाने के कारण, यह गले के संक्रमण को दूर करने में मदद करता है और गले के भारीपन को ठीक करता है। इसके लिए आप लहसुन की कली को कुछ देर के लिए अपने दांतों के बीच दबा कर रखें और इसके रस का धीरे-धीरे सेवन करें। जानें लहसुन खाने के 10 स्वास्थ्यवर्धक लाभ – रखे सेहत को दुरुस्त

हल्दी

हल्दी में एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-फंगल और एंटी-इंफ्लेमेटरी जैसे कई गुण पाए जाते हैं, जो गले के संक्रमण को दूर करने में सहायक होते है। इसके लिए आप हल्दी दूध का सेवन करें। इसके अलावा भोजन में हल्दी का उपयोग करें। जानें हल्दी के फायदे और नुकसान – Turmeric

आवश्यक सूचना

अगर किसी व्यक्ति को गले में भारीपन की गंभीर समस्या हैं, इन घरेलू उपाय के बाद भी आराम नहीं मिलता है और लम्बे समय तक गले में भारीपन बन रहता है, तो वह व्यक्ति जल्द ही डॉक्टर से संपर्क करें और गले में भारीपन होने के कारणों की जांच करवाएं।

जानें कुंकुमादि तेल के फायदे और नुकसान – Kumkumadi Oil

Author Profile

Sumit Raghav
Sumit Raghav
I'm, your guide through the fascinating worlds of entertainment and health. With a passion for staying in-the-know about the latest happenings in the entertainment industry and a dedication to promoting well-being, I bring you a unique blend of articles that are both informative and entertaining.

Share this Article